Followers

Google+ Followers

Thursday, 22 August 2013

जीवन बिताया सारा















@ 2013 बस यादें सिर्फ यादें ...............
जीवन बिताया सारा,
इन्तजार करते करते,
रह रहकर मेरे दिल मे,
उठी है ये तरगें,
है दिल मे मेरे केवल,
तेरे मिलने कि उमंग,
कभी आ भी जाँऊ परमात्मा,
यूही राह चलते चलते,
देखो मै ना समझ हूँ,
पकडा है तेरा दामन,
कहाँ जाये अब छोडकर,
मेरे भगवन,
ना साथ छोड देना,
मेरा साथ चलते चलते,
मुझे हर दिन हरपल,
घनश्याम याद आना,
मै भूलने ना पाँऊ,
तुम भी ना भूल जाना,
हे केशव माघव मघुसुदन.................
::::::::::::नितीश श्रीवास्तव :::::::::::::

No comments:

Post a Comment